न दर्द बेवफाई का.... 



       दुनिया के सामने झुकने से बहतर है, 
           रब के सामनेझुको.!!! 

Duniya Ke Samne Jhukne Se Bahtar hai, 
           Rab ke samne jhuko.!!! 

          मोहब्बत रब से हो तोह सुकुन देती है, 
          न खौफ जुदाई का न दर्द बेवफाई का.!! 

                               


Mohabbat Rab Se Ho Toh Sukoon Deti Hai, 
Na Khouf Judai Ka Na Dard Bewafai Ka.!! 

तकलीफ भी उन्ही को मिलती है,
जो रिश्ते दिल से निभाते है.!!

Takleef  Bhi Unhi Ko Milti Hai,
Jo Dil Se Nibhate Hai.!!

ना साथ है किसा का ना सहरा है कोई,
ना हम है किसी के ना हमारा है कोई.

Na Sath Hai Kisi Ka Na Sahra Hai Koi,
Na Hum Hai Kisi Ke Na hamara Hai Koi.